PEG Ratio क्या होता है | इसका सही प्रयोग कैसे करें

स्टॉक मार्केट में इन्वेस्ट करने के लिए इन्वेस्टर तरह-तरह के रेश्यो का इस्तेमाल करते हैं जिसमें से एक PEG Ratio है। तो आज इसको जानेंगे विस्तार से PEG रेश्यो किया है। इसे कैसे कैलकुलेट किया जाता है। और इसका उपयोग कैसे कर सकते हैं। यह आर्टिकल पूरा पढ़ने के बाद आप काफी हद तक यह जान सकते हैं कि कोई कंपनी अंडरवैल्यूड है या ओवरवैल्यूड।

PEG Ratio किया होता है?

यह एक वैल्यूएशन रेश्यो है। PEG Ratio हमें यह बताता है कि कंपनी अपने अर्निंग ग्रोथ के कंप्रेशन में ओवरवैल्यूड है या अंडरवैल्यूड। PEG Ratio समझने से पहले PE Ratio को समझना होगा। PE Ratio- पहले pe ratio से कंपनी का एनालाइज किया जाता था। तब
लो पि.इ रेश्यो वाली कंपनी को अंडरवैल्यूड हाई पि.इ रेश्यो वाली कंपनी को ओवरवैल्यूड समझ लिया जाता है लेकिन ऐसा मानना हर समय सही नहीं होता है।

PEG Ratio क्यों देखना चाहिए?

क्योकि अक्सर बरी कंपनी का PE ratio थोड़ा ज्यादा होता है। ऐसे में हम सिर्फ पि.इ रेश्यो को देखेंगे तो हम हमेसा अछि हाई ग्रोथ कंपनी को ओवरवैल्यूड मानेगे फिर ऐसी कंपनी में इन्वेस्ट नहीं करेंगे। और भारत के बड़े-बड़े इन्वेस्टरों ने हाई पि.इ रेश्यो वाली कम्पनी में निवेश अच्छा पैसा बनाया है। pe ratio की ऐसी कमी को देखते हुए PEG Ratio की शुरुआत हु थी।

कंपनी का PEG Ratio कैसे निकलते है?

PEG Ratio निकालने के लिए PE Ratio को Earning Growth से भाग करना होता है। अगर कंपनी का PEG Ratio <1 से काम है तो उसे अंडरवैल्यूड माना जाता है। अगर कंपनी का PEG Ratio 1 यह तो माना जाता है वह कंपनी नाही अंडरवैल्यूड है ना ओवरवैल्यूड PEG Ratio >1 से ज्यादा है तो माना जाता है कंपनी ओवरवैल्यूड है।

उधाहरण- abc कंपनी और xyz कंपनी दोनों कंपनी का PE Ratio =15 है। और abc कम्पनी की ग्रोथ =10% है xyz कम्पनी की ग्रोथ 20% है अगर दोनों कम्पनी को PE Ratio से कम्पेयर करेंगे। तो दोनों कंपनी का pe रेश्यो बराबर है तो दोनों कंपनी की वैल्यूएशन सेम है। अगर दोनों कंपनी की PEG Ratio को कम्पेयर करे तो कुछ और ही मिलेगा। abc कम्पनी का peg रेश्यो निकलता तो 15 भाग 10 =1.5 होगा। और xyz कंपनी का देखे तो 15 भाग 20 = 0.75

  • ABC कम्पनी का PEG Ratio है 1.5 जो। >1 से ज्यादा है तो पि.इ.जी रेश्यो के हिसाब से ओवरवैल्यूड माना जायेगा।
  • XYZ कंपनी का PEG Ratio है 0.75 जो। <1 से कम है तो पि.इ.जी रेश्यो के हिसाब से अंडरवैल्यूड माना जायेगा।

PEG Ratio के बारे में बहुत ज्यादा पूछे जाने वाले प्रश्न – उत्तर?

PEG Ratio का फुल फॉर्म क्या है?

PEG Ratio का फुल फॉर्म है। Price/Earning To Growth Ratio विकास अनुपात के लिए मूल्य/आय।

PEG Ratio अविष्कार किसने किया था?

PEG Ratio को पहली बार Mario Farina इन्वेस्टर ने 1969 में (A Beginner,s Guide To Successful Investing in the stock market) अपनी किताब में पब्लिश किया। लेकिन PEG Ratio को दुनिया भर में फेमश की अमेरिका के इन्वेस्टर Peter Lynch ने। 1989 में अपनी किताब One Up On Wall Street पब्लिश कर के।

अधिक जानकारी के लिए यह वीडियो जरूर देखे।

आखिरी शब्द (PEG Ratio in hindi)

दोस्तों आशा करता हूं कि आपको PEG Ratio क्या है यह समझ में आ गया होगा अगर कोई भी सवाल हो तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं। आपका उत्तर जरूर देंगे और किसी और टॉपिक पर आपको आर्टिकल चाहिए तो यह भी जरूर बताएं। इस वेबसाइट पर और भी नॉलेजेबल कंटेंट हैं आप उन्हें भी पढ़कर स्टॉक मार्केट की जर्नी को कम कर सकते हैं धन्यवाद।

Spread the love

Leave a Comment