Intraday Trading Tips In Hindi For Beginners

यदि आप Intraday Trading Tips In Hindi For Beginners जानना चाहते हो तो आप सही आर्टिक्ल पढ़ रहे हो। और इन को फॉलो कर के में इंट्राडे ट्रेडिंग सीखा हु आप बिगिनर हो तो यह Tips फॉलो कर के Intraday Trading सिख सकते हो।

चलो जानते है,

दोस्तों जिनको नहीं पता इंट्राडे ट्रेडिंग क्या होता है उनको थोड़ा सा बता देता हु।

इंट्राडे ट्रेडिंग स्टॉक्स, इंडेक्स, क्रिप्टोकरंसी ,फॉरेक्स मार्केट और कमोडिटी मार्केट में क्या जाता है।

इंट्राडे ट्रेडिंग का मतलब होता है जिस दिन आप ने स्टॉक या किसी अन्य पेयर को ख़रीदा हे अपनी रिसर्च कर के तो आप उसको उसी दिन मार्किट बंद होने से पहले बेच देते हो।

तो उसे इंट्राडे ट्रेडिंग कहते हैं ट्रेडर्स इसलिए इंट्राडे ट्रेडिंग करते हैं क्योंकि इसमें काफी अच्छा मार्जन मिल जाता है। जिससे इंट्राडे ट्रेडर्स लाखों रुपए महीना कमाते हैं।


लेकिन इसको सीखना पड़ता है बिना सीखे आप इंट्राडे ट्रेडिंग नहीं करें फ्री में इंट्राडे ट्रेडिंग सिखने का रोड मेप यह है इसे जरूर पड़े।

जल्दी से जानते है की बिगिनर को कोन कौन से टिप्स फॉलो करने चाहिए इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए।

Content of table

बिना इंट्राडे ट्रेडिंग सीखे ट्रेड नहीं करे।

हां दोस्तों यह सच है किसी भी बिगनर को बिना सीखे इंट्राडे ट्रेडिंग नहीं करना चाहिए। आपने कभी ना कभी अपने दोस्तों या रिलेटिव से जरूर सुना होगा।

कि स्टॉक मार्केट में काफी ज्यादा लॉस होता है और किसी का पूरा कैपिटल लॉस हो गया या किसी ने अपना घर बेच कर या लोन लेके स्टॉक मार्केट में लगाया और उसका सारा पैसा डूब गया या फिर न्यूज़ में आपने देखा होगा।

की स्टॉक मार्केट में पैसा लॉस होने की वजह से कोई गलत डिसिजन ले लिया। तो इसीलिए बिना सीखे इंट्राडे ट्रेडिंग नहीं करना चाहिए।

इंट्राडे ट्रेडर का माइंड सेट केसा होना चाहिए समझे और सीखे।

इंट्राडे ट्रेडर हमेशा अपने मनी मैनेजमेंट और रिक्स रिवॉड को फॉलो करता है और अपने स्ट्रेटजी पर विश्वास करता है। एक ही स्ट्रेटजी को रोज इस्तेमाल करता है

जिस दिन उसका सेटप नहीं बनता तो ट्रेड नहीं करता है। और अपनी स्ट्रेटजी नहीं बदलता है इंट्राडे ट्रेडर का माइंडसेट समझने के लिए आप किताबें पढ़ें इससे आपको काफी ज्यादा मदद मिलेगा और आपकी साइकोलॉजी इंप्रूव होगी।

इंट्राडे सिखने के लिए 10, 12 यूटुब चैनल को फॉलो नहीं करे।

एक बिगनर बहुत सारे यूट्यूब चैनल को फॉलो कर लेता है जो इंट्राडे ट्रेडिंग सिखाते हैं या फिर वह एक ट्रेडर है। तो आपको ऐसा नहीं करना है क्योंकि ऐसा करने से आप कभी कुछ फॉलो करोगे और कभी कुछ और फॉलो करोगे। और कई साल बीत जायेगे आप ट्रेडिंग नहीं सिख पाओगे फिर आपका माइंड सेट बिगड़ जाएगा।

इसीलिए किसी एक यूट्यूब चैनल को फॉलो करें जो रियल में ट्रेडर हो उसी को फॉलो करें इससे आपकी साइकोलॉजी इंप्रूव होगी और जल्दी से इंट्राडे ट्रेडिंग सिख पाओगे।

शुरुआत में ऑप्सन ट्रेडिंग नहीं करे।

आजकल आप सोशल मीडिया और यूट्यूब पर देख रहे होंगे कि लोग ऑप्शन ट्रेडिंग से लाखों रुपए कमा रहे हैं। और वह स्क्रीनशॉट या वीडियो अपलोड कर रहे हैं तो आपको शुरुआती दिनों में ऑप्शन ट्रेडिंग नहीं करना चाहिए।

क्योंकि ऑप्शन में काफी ज्यादा हाई वोलेटिलिटी होता है जिसकी वजेह से आपका इसमें सारा कैपिटल एक ही दिन में लॉस हो सकता है।

इसलिए आप स्टॉक्स में इंट्राडे ट्रेडिंग करें स्टॉक्स में प्रॉफिटेबल होने के बाद आप ऑप्शन ट्रेडिंग ट्रेड कर सकते हैं।

Intraday Trading Tips In Hindi For Beginners

हाई लिक्विडिटी और अच्छे स्टॉक में ही ट्रेड करे।

बहुत सारे बेगिनेर पेनी स्टॉक में इंट्राडे ट्रेडिंग करते हैं या जिसमें लिक्विडिटी कम होता है उसमें ट्रेड करते हैं।

तो आपको ऐसा नहीं करना है क्योंकि लिक्विडिटी कम होने की वजह से अगर वह स्टॉक्स में शॉर्ट सर्किट या अपर सर्किट लगा तो आपका लॉस काफी बड़ा हो सकता है।

उसके बाद आप ट्रेड से बाहर नहीं आ पाओगे। क्योंकि जब आप सेल करोगे तो दूसरी तरफ खरीदने के लिए कोई दूसरा होना चाहिए। इसकी वजह से काफी बड़ा लॉस हो सकता है।

तो इसीलिए हमेशा हाई लिक्विडिटी वाले स्टोक्स में ही ट्रेड करें जैसे कि रिलायंस एचडीएफसी या कोई अन्य स्टोक्स।

स्टेटर्जी का बैक टेस्ट जरूर करे।

इंट्राडे ट्रेडिंग स्ट्रेटजी बनाने या सीखने के बाद उसका बैक टेस्ट जरूर करें कम से कम 6 महीने या 1 साल का। इससे आपको समझ में आएगा कि इसका विनिंग रेट कितना है और आपकी आंखें ट्रेन होगी।

जिससे आप लाइव मार्केट में अच्छे से समझकर ट्रेड कर पाओगे। क्योंकि लाइव मार्केट में कॉन्फिडेंस नहीं आता है या फिर गलत डिसिजन ले लेते है इसीलिए बैग टेस्ट करना जरूरी है।

और प्रैक्टिस करना इससे आपको लाइव मार्केट में कॉन्फिडेंस आएगा। कि यहां मेरी स्ट्रेटजी बन रही है और आप अच्छे से ट्रेड कर पाओगे।

कोई भी एक स्टेटर्जी पर इंट्राडे ट्रेडिंग करे।

एक बेगिनेर यह गलती बार-बार करता है कि वह अपनी स्टेटर्जी को बार-बार बदलता रहता है। आपको ऐसा नहीं करना है इससे आप जल्दी इंट्राडे ट्रेडिंग नहीं सीख पाओगे। इसलिए आपको एक ही स्टेटर्जी पर बार-बार प्रैक्टिस करना है और उसको ही पर्फेक्ट करना है इससे आप जल्दी इंट्राडे ट्रेडिंग में सक्सेसफुल हो सकते हो।

स्टेटर्जी को लाइव मार्किट में प्रेक्टिस जरूर करे रियल ट्रेड करने से पहले।

आप अपनी स्ट्रेटजी लाइव मार्केट में प्रैक्टिस जरूर करें या 3 महीने पेपर ट्रेड करें पेपर ट्रेड एप्प में उतना ही कैपिटल रखे जितने से आप रियल ट्रेड करोगे। इससे यह होगा कि आप अपनी स्ट्रेटजी पर परफेक्ट हो जाओगे। और रियल ट्रेड करने वक्त हर महीने प्रॉफिट में ही रहोगे आपका लॉस नहीं होगा। आप धीरे-धीरे प्रॉफिटेबल जोन में आ जाओगे।

हमेसा स्टॉपलॉस का उपयोग करे रिक्स रिवॉर्ड के साथ।

बेगिनेर ट्रेडर स्टॉप लॉस का उपयोग नहीं करता है जिस कारण से उसका सारा कैपिटल लॉस हो जाता है। तो आपको ऐसा नहीं करना है आपको हमेशा रिक्स रिवॉड के साथ स्ट्रेटजी बनानी है और अपने स्टॉप लॉस को फॉलो करना है।

आप का सारा पैसा लॉस नहीं होगा और बिना स्ट्रेटजी के बरने ट्रेड नहीं करना है ऐसा करने से आप धीरे-धीरे सक्सेसफुल ट्रेडर बन जाओगे।

बेगिनेर 1 दिन में एक ही ट्रेड के शुरुआती महीनों में।

काफी नई ट्रेडर यह गलती बार-बार करते हैं कि वह 1 दिन में 10 – 20 या इससे भी अधिक ट्रेड कर लेते हैं।

ऐसा करने से ओवरट्रेडिंग की लत लग जाती है जिससे बाहर आना ज्यादा मुश्किल होता है या फिर लॉस होने के बाद वह बार-बार ट्रेड करते हैं।

अपने लॉस को रिकवर करने के लिए इससे भी ओवरट्रेडिंग की लत लग जाती है इसके बाद सारे पैसे लॉस हो जाते हैं। और साइकोलॉजी काफी ज्यादा खराब हो जाती है।

आपको ऐसा नहीं करना है आपको शुरुआत के कुछ महीनों में दिन में 1 ट्रेड ही करना है अगर वह ट्रेड प्रॉफिट दे रहा हो या लॉस दे रहा हो उसको बुक करने के बाद आप दोबारा से ट्रेड नहीं करें उस दिन।

इससे आपकी साइकोलॉजी सही रहेगी और आप महीने के लास्ट में प्रॉफिट में ही निकलोगे और धीरे-धीरे आप प्रॉफिटेबल जोन में आने के बाद आप अपने हिसाब से ट्रेड कर सकते हो फिर।

Intraday Trading Tips In Hindi For Beginners
Intraday Trading Tips In Hindi For Beginners

स्टॉपलॉस और टारगेट हिट होने पर ट्रेड से निकल जाये।

एक नए ट्रेडर में लालच या फिर उनको लगता है कि मार्केट टारगेट या स्टॉप लॉस हिट होने पर और ऊपर या फिर उनका लॉस रिकवर होकर द्वार से प्रॉफिट में आ जाएंगे या फिर उनको और ज्यादा प्रॉफिट हो जाएगा तो वह रुक जाते हैं।

ऐसा आपको नहीं करना है क्योंकि आपके स्टेटर्जी के हिसाब से आपको पता है कि इस स्टेटर्जी का विनिंग रेट इतना है और कितना परसेंट महीने में पैसा निकाल देता है।

तो वह रिक्स रिवॉड खराब हो जाता है महीने के लास्ट में इससे आप कि साइकोलॉजी पर इफेक्ट पड़ सकता है इसीलिए ऐसा ना करें। और अपने स्टेटर्जी के अनुसार स्टॉप लॉस और टारगेट हिट होने पर निकल जाए।

नए ट्रेडर को क्वांटिटी नहीं बढ़ानी चाहिए।

नया ट्रेडर बार – बार यह करता है की लॉस होने पर अगले ट्रेड में क्वांटिटी बढ़ा कर लेता है। जिससे उसको लगता है कि सारा लोग रिकवर हो जाएगा और वह एक प्रॉफिट में आ जाएगा। लेकिन ऐसा होता नहीं है और उसका उस ट्रेड में भी लॉस हो जाता है क्योंकि उसका रिक्स उस ट्रेड में बढ़ जाता है।

उदाहरण राहुल नाम का ट्रेडर ₹500 रिक्स ले सकता है एक ट्रेड में तो उसका स्टॉपलॉस हिट होगया और उसने क्वांटिटी डबल कर लिया अगले ट्रेड में तो उसका रिस्क ₹1000 हो गया जैसे ही मार्किट थोड़ा सा निचे आएगा तो उसे 600, 700 का लोस्स दिखा और फिर वो लोस्स को बुक कर लेगा।

क्योकि उसका माइंड ₹500 से ज्यादा का लोस नहीं झेल सकता या उसने ₹500 से ज्यादा का लॉस देखा नहीं है। तो इससे ट्रेडिंग साइकोलॉजी और रिक्स रिवॉड खराब हो जाता है ऐसी गलती ना करें।

इंट्राडे ट्रेडिंग करते समय डेली ट्रेंड को फॉलो जरूर करे।

इंट्राडे ट्रेडिंग करते समय या इंट्राडे ट्रेडिंग स्ट्रेटजी बनाते समय यह ध्यान जरूर रखें कि आपको डेली ट्रेंड के साथ ही अपनी स्ट्रेटजी को बनाना है। चलो

इसको उदाहरण से समझते हैं कोई भी तैराक कभी भी पानी के बहाव के विपरीत दिशा में तेजी से नहीं तैर सकता या फिर तेर ही नहीं सकता। ऐसे ही डेली ट्रेंड के विपरीत में बड़ा प्रॉफिट नहीं बनाया जा सकता है।

या आपका बार-बार स्टॉपलॉस हिट होगा और आपने देखा होगा कि जो बड़े-बड़े ट्रेडर हैं। वह हमेशा डेली ट्रेंड के दिशा में ही ट्रेड करते हैं और बड़ा – बड़ा प्रॉफिट बनाते हैं तो आपको भी डेली ट्रेंड को फॉलो करते हुए इंट्राडे ट्रेडिंग करना है

ट्रेड लेने से पहले रिक्स रिवॉर्ड को जरूर देखे।

बहुत सारे बिगिनर ट्रेडर ट्रेड लेने से पहले रिक्स रिवॉड चेक नहीं करते हैं जिस कारण से उनका महीने के लास्ट में लॉस में ही पैनल रहता है। तो आपको ऐसा नहीं करना है आपको ट्रेड लेने से पहले अपना रिक्स रिवॉड देखना है उसके बाद ही ट्रेंड ले ताकि आपका महीने के लास्ट में प्रॉफिट हो।

अच्छा ब्रोकर चुने, जो फ़ास्ट होना चाहिए।

दोस्तों बिगिनर ट्रेडर को यह नहीं पता होता कि कौन सा ब्रोकर अच्छा है क्योंकि भारत में लगभग 2000 से ज्यादा ब्रोकर हैं। और नये ट्रेडर कोई सा भी ब्रोकर अप्प मैं अकाउंट बनाकर ट्रेड करते हैं।

जो कि फिर काफी दिक्त आता और उसे समझ नहीं आता है कि क्या हो रहा है। जैसे की अप्प हैंग होता है, फिर लेग करता है या बहुत सारे टूल्स उसमें नहीं होते हैं, ऐसी परेशानी आती है।

इससे बचने के लिए आप जो भारत का सबसे नंबर वन ब्रोकर है उसे ही चुने और उसमें ही ट्रेड करें क्योंकि उसमें ऐसा कम देखने को मिलता है। कि वह हैंग करें, फास्ट ना हो या फिर पोजीशन काटने वक्त समय लगे। यह कुछ भी टेक्निकल प्रॉब्लम देखने को ज्यादा नहीं मिलता है।

मेरा रिकमेंडेशन है आप ज़रोधा मैं डीमेट अकाउंट खुलवाए।

चार्ट देखने के लिए बड़े स्क्रीन का उपयोग करे।

काफी नये ट्रेडर जब ट्रेडिंग में आते हैं तो वह मोबाइल से ही ट्रेड करना शुरू कर देते हैं यह गलती आप ना करें। क्योंकि मोबाइल में चार्ट छोटा दिखता है और रिसर्च भी नहीं हो पाता है सही से चार्ट को देखने के लिए और उसमें अच्छे से रिसर्च और प्रैक्टिस करने के लिए आपको बड़ी स्क्रीन का उपयोग करना चाहिए। चाहे आप टेबलेट, लैपटॉप या कंप्यूटर कुछ भी इस्तेमाल करें बड़ी स्क्रीन होना चाहती जरूरी है।

प्रश्न उत्तर”

बिगिनर इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे सीखें ?

यूट्यूब से सीख सकते हो यूट्यूब पर काफी सारे ट्रेडर हैं जो कि अच्छा प्रॉफिट कमाते हैं। और एनालाइज करके वीडियो भी अपलोड करते हैं तो उनसे आप सीख सीखो या फिर यह आर्टिकल पढ़ें इसमें रोड मैप बताया है कि बिगनेर कैसे इंट्राडे ट्रेडिंग सीख सकता है फ्री में।

1 मिनट में इंट्राडे स्टॉक कैसे चुनूं?

आपको इंट्राडे स्टॉक चुनने के लिए निफ़्टी 50 का टॉप 5 हाई वेटेज वाले स्टॉक चुन लो और उसमें ही ट्रेड करो यह बेस्ट तरीका है इंट्राडे स्टॉक चुनने का।

क्या मोबाईल से इंट्राडे ट्रेडिंग कर सकते है?

मोबाइल से आप इंट्राडे ट्रेडिंग कर सकते हैं लेकिन चार्ट को एनालाइज या चार्ट पर रिसर्च और अच्छे से प्रेक्टिस नहीं कर सकते हैं।

अंतिम शब्द”

आपको इस आर्टिकल में बताया है कि Intraday Trading Tips In Hindi For Beginners एक बिगिनर के लिए इंट्राडे ट्रेडिंग टिप्स क्या होना चाहिए। और जिनको फॉलो करके वह अपनी ट्रेडिंग जर्नी शुरू कर सके।

और सीख सके इंट्राडे ट्रेडिंग आपका कोई सवालिया या सुझाव हो। तो हमें कमेंट में जरूर बताएं और अपने रिलेटिव को यह आर्टिकल शेयर जरूर करें धन्यवाद।

Spread the love

Leave a Comment