Option trading kya hota hai?

हेलो, आप सभी ने कहीं ना कहीं ऑप्शन ट्रेडिंग के बारे में जरूर सुना होगा, लेकिन आप में से काफी सारे लोगों को यह नहीं पता होता है कि Option trading kya hota hai? तो आज इसी पर विस्तार से चर्चा करेंगे।

Option trading kya hota hai?

ऑप्शन ट्रेडिंग एक financial instrument है जिसे investors मार्केट के movements से फायदे उठाने के लिए इस्तेमाल करते हैं, यही advanced लेवल का ट्रेडिंग है जिसमें traders स्टॉक, करेंसी, कमोडिटीज या इंडेक्स के लिए किसी स्पेसिफिक प्राइस पर एक स्पेसिफिक समय तक खरीदने या बेचने का अधिकार देता है,

इस ट्रेडिंग तकनीक और इनकम जनरेशन के लिए किया जाता है इस आर्टिकल में Option Trading के basic concepts और types और कुछ इंपॉर्टेंट स्ट्रेटजी के बारे में जानेंगे।

Option Trading ke Basic Concepts in Hindi:

1. Call Option aur Put Option:

  • ऑप्शन ट्रेडिंग में दो मुख्य प्रकार होते हैं: कॉल ऑप्शन और पुट ऑप्शन।
  • Call Option: ce इसमें इन्वेस्टर को एक स्पेसिफिक प्राइस पर एक स्पेसिफिक समय तक किसी स्टॉक को खरीदने का अधिकार होता है
  • Put Option: pe इसमें इन्वेस्टर को एक स्पेसिफिक प्राइस पर एक स्पेसिफिक समय तक किसी स्टॉक को बेचने का अधिकार होता है

2. Strike Price:

  • यह वो प्राइस होती है जिस पर इन्वेस्टर ने डिसाइड किया होता है कि वह स्टॉक खरीदना या बेचना चाहता है

3. Expiration Date:

  • Option का एक्सपायरी डेट होता है जिसमें इन्वेस्टर को अपना अधिकार इस्तेमाल करना होता है एक्सपायरी डेट के बाद ऑप्शन ऑटोमेटेकली एक्सपायर हो जाता है, एक्सपायरी वीकली और मंथली बेसिस पर होता है।

4. Premium:

  • प्रीमियम वो अमाउंट होती है जो ट्रेंड ऑप्शन के लिए पे करता है यह प्राइस वोलैटिलिटी स्ट्राइक प्राइस और एक्सपायरी डेट पर डिपेंड करता है

Option Trading ke Types:

1. Call Options:

  • Call option होल्डर को स्टॉप करने का अधिकार देता है लेकिन यह कंपलसरी नहीं होता कि वह स्टॉक खरीदे।
  • कॉल ऑप्शन की वैल्यू तब बढ़ती है जब अंडरलाइन स्टॉक का प्राइस बढ़ता है।

2. Put Options:

  • Put option होल्डर को स्टॉक बेचने का अधिकार देता है लेकिन यह कंपलसरी नहीं होता कि वह स्टॉक बेचे।
  • Put option की वैल्यू तब बढ़ती है जब अंडरलाइन स्टॉक का प्राइस घटता है।

3. Covered Call:

  • इसमें इन्वेस्टर स्टॉक खरीदने के बाद उसकी कॉल ऑप्शन भी बेच देता है यह एक इनकम जेनरेटिंग strategy होती है।

4. Protective Put:

  • इसमें इन्वेस्टर स्टॉक खरीदने के बाद उसकी पुट ऑप्शन भी बेच देता है यह रिस्क होल्डिंग के लिए की जाती है।

5. Straddle:

  • इस स्ट्रेटजी मे ट्रेड एक समय में कॉल और पुट दोनों ऑप्शन खरीदता है यूजुअली वह एक ही strike price और एक्सपायरी डेट पर होती है।

Option Trading ke Strategies:

1. Bullish Call Spread:

  • इसमें इन्वेस्ट एक कॉल ऑप्शन खरीदना है और एक कॉल ऑप्शन बेचता है, लेकिन डिफरेंट स्ट्राइक प्राइस पर यह strategy market में थोड़ा सा Bullish movement के लिए होता है।

2. Bearish Put Spread:

  • इसमें इन्वेस्ट ऑप्शन खरीदना है और एक पुट ऑप्शन बेचता है लेकिन डिफरेंट स्ट्राइक प्राइसेज बार यह स्ट्रेटजी मार्केट में थोड़ा सा Bearish movement के लिए होती है।

3. Iron Condor:

  • यह एक न्यूट्रल स्ट्रेटजी है जिसमें ट्रेडर एक कॉल स्प्रेड और एक पुट स्प्रेड दोनों खरीदता है इसमें प्रॉफिट रेंज होती है और मार्केट के मूवमेंट पर डिपेंड करता है।

4. Strangle:

  • इसमें इन्वेस्टर एक कॉल और एक फुट ऑप्शन दोनों खरीद लेता है लेकिन डिफरेंट स्ट्राइक प्राइसे पर ये स्ट्रेटजी होने वाले बड़े मूवमेंट के लिए बनाया जाता है।

Option Trading ke Fayde aur Nuksan:

1. Fayde:

  • Hedging: ऑप्शन ट्रेडिंग एक इफेक्टिव तरीका है अपने इन्वेस्टमेंट को मार्केट के फ्लकचुएशन से बचने का
  • Income Generation: कुछ स्ट्रैटेजिक जैसे covered call से ट्रेडर्स रेगुलर इनकम जनरेट कर सकते हैं
  • Risk Management: ऑप्शन का इस्तेमाल रिस्क मैनेजमेंट के लिए किया जा सकता है

2. Nuksan:

  • Complexity: ऑप्शन ट्रेडिंग कम कंपलेक्सिटी और रिस्क के साथ आता है इसलिए बिगनर्स के लिए मुश्किल हो सकता है.
  • Time Sensitivity: ऑप्शंस का वैल्यू टाइम के साथ घटेगा इसलिए सही समय पर सही डिसीजन लेना इंपॉर्टेंट है।

Conclusion:

दोस्तों में आशा करता हूं कि आपको ये आर्टिकल समझ में आया होगा, ध्यान रहे की ऑप्शन ट्रेडिंग एक पावरफुल फाइनेंशियल टूल है पैसा कमाने के लिए लेकिन इसमें रिस्क भी बहुत होता है, रिसर्च की जरूरत होती है बिगिनर्स को पहले डेमो अकाउंट इस्तेमाल करें। और मार्केट के डायनामिक को समझे तभी रियल ट्रेडिंग में उतारने का फैसला करें अपने रिस्क टॉलरेंस को ध्यान में रखें और हमेशा एक बेस्ट प्रोफेशनल फाइनेंशियल एडवाइजर से सलाह लें, हैप्पी ट्रेडिंग।

Spread the love

Leave a Comment