क्या मैं 10000 रुपये के साथ ऑप्शन ट्रेडिंग शुरू कर सकता हूं?

जी हां दोस्तों आप ₹10000 से ऑप्शन ट्रेडिंग स्टार्ट कर सकते हो। लेकिन यह लेख मैं यह समझ कर लिख रहा हूं। कि आपके पास सिर्फ ₹10000 ही हैं। तो सबसे पहले आपको एक स्ट्रेटजी बनानी होगी। चाहे आप सपोर्ट रेजिस्टेंस पर कोई स्ट्रेटजी बनाएं या फिर कैंडलेस्टिक पेटर्न पर या ट्रेंडलाइन, ब्रेकआउट पर आप स्टॉपलॉस हंटिंग को भी उपयोग कर सकते है। ऑप्सन ट्रेडिंग के लिए यह सबसे अच्छा है।

Content of table

10000 रुपये से ऑप्शन ट्रेडिंग कैसे शुरू करें?

एक स्ट्रेटजी बनाकर उस पर कुछ महीनों बैक टेस्टिंग करें। आप यूट्यूब के वीडियो से भी सीख सकते हैं काफी अच्छे-अच्छे ट्रेडर हैं। जो स्ट्रेटजी अच्छे से सिखाते हैं।विनिंग रेट भी काफी अच्छे होते हैं। या फिर आप हमारी वेबसाइट से स्ट्रेटजी सीख सकते हैं और बैक टेस्टिंग कर सकते हैं।

ऑप्शन ट्रेडिंग के लिए सबसे अच्छा स्ट्रेटजी कौन सा है?

मेरा फेवरेट स्ट्रेटजी है स्टॉप लॉस हंटिंग (Stop Loss Hunting) ऑप्शन ट्रेडिंग के लिए बेस्ट स्ट्रेटजी है। और मैं यह मान कर चलता हूं कि आपको कुछ भी नॉलेज नहीं है यह सिखने के लिए सबसे पहले आप कैंडल स्टिक के बारे में सीखें सारे कैंडल स्टिक और 6 महीन का चार्ट देखें 15 मिनट टाइम फ्रेम पर यह प्रैक्टिस आपको अभी रोज करनी है। कुछ हफ्तों के बाद आपको सपोर्ट रेजिस्टेंस सीखना है। इससे आप का दिमाग और आँखे ट्रेंड होगी। और फिर आप stop loss hunting सीखे।

नए ऑप्शन ट्रेडिंग यह बातो का धियान रखे?

लाइव मार्केट में पेपर ट्रेडिंग करें आपको अपना पैसा नहीं लगाना है। स्टॉक मार्केट में आपको प्ले स्टोर पर काफी सारे ऐप है प्ले स्टोर से पेपर ट्रेडिंग एप सर्च करना और आपको जो अच्छा लगे उनमें से उसको इंस्टॉल करके उससे ऑप्शन ट्रेड करें।

कुछ ऐप महीने का सब्सक्रिप्शन लेते हैं। ₹50 से ₹20 और कुछ ऐपो का 1 साल का सब्सक्रिप्शन प्लान है ₹400 से ₹300 तक पहले 1 महीने का सब्सक्रिप्शन ले उसके बाद आपको अच्छा लगे तो अगले महीने 1 साल का सब्सक्रिप्शन ले सकते हैं। या फिर 1 महीने का प्लेन जारी रख सकते है।

सबसे अच्छा पेपर ट्रेडिंग ऐप कौन सा है जो फ़ास्ट भी हो?

मेरा फेवरेट पेपर ट्रेडिंग एप है NIOTA APP यह एप्प मुझे इसलिए पसंद है। क्योंकि इसमें ऑप्शन चैन दिख सकते है। काफी फास्ट है और लॉस और प्रॉफिट दोनों लाइव प्राइस दिखाता है। प्राइस लेग नहीं करता। पूरे महीने की रिपोर्ट भी दिख जाता है। मैंने कितना लॉस और प्रॉफिट किया है।

इस महीने इससे आप अपनी स्ट्रेटजी का विनिंग पर्सेंटेज निकल सकते हो। और आप खुद से इस एप्प में केपिटल काम या ज्यादा कर सकते हो। और काफी रिलायबल प्राइस सब्सक्रिप्शन है मेरी सलाह यही है कि आप इसको ही यूज़ करें। इसका इंटरफेस भी काफी आसान और रिलायबल है किसी को भी आसानी से समझ में आ जाएगा।

BANK NIFTY CHART
BANK NIFTY CHART

जल्दी ट्रेडर कैसे बने?

मे यह मान रहा की हूं की आपने एक स्ट्रेटजी चुन लिया है। स्ट्रेटजी को आप पिछले 1 साल चार्ट पर बैक टेस्टिंग करें gocharting पर आपको इसमें रीप्ले मोड का ऑप्शन मिलता है फ्री में आपको 1 साल का बैक टेस्टिंग रीप्ले मोड में करना है।

मगर पहले आप बिना रीप्ले मोड के बैक टेस्टिंग कर सकते हो उसके बाद रीप्ले मोड पर कुछ महीनों का बैक टेस्टिंग करे। उसके बाद पेपर ट्रेडिंग एप में 3 से 4 महीने लाइव ट्रेडिंग करे लाइव ट्रेडिंग के लिए आप tradingview का उपजोग कर सकते है।

क्योकि gocharting पर लाइव चार्ट फ्री नहीं है और tradingview पर लाइव चार्ट फ्री है लेकिन रीप्ले मोड फ्री नहीं है। और साथ में आपको बैक टेस्टिंग रीप्ले मोड पर करते रहना है। कुछ घंटे रोज ताकि प्रेक्टिस हो सके।

दिन में शरीफ एक ट्रेड ही करें। एक ट्रेड से ज्यादा नहीं करना है जब महीने के लास्ट में प्रॉफिट होने लगे तो आपको एक दो महीने और पेपर ट्रेड करना है। उसके बाद आप अपने रियल कैपिटल से ट्रेड कर सकते हो। आप फिर ऑप्शन ट्रेडिंग साइकोलॉजी समझ चुके होगे। और आप एक नए ट्रेडर से बिगनर ट्रेडर बन चुके होगे। आप फिर धीरे-धीरे अच्छा प्रोफिट करने लगोगे।

लाइव पेपर ट्रेड करने वक्त कुछ बातों का ध्यान रखें?

  • आपको पेपर ट्रेडिंग में जो वर्चुअल पैसा होता है वह पैसा आपको ₹10000 ही रखना है। 3 से 4 लाख या एक करोड़ रुपए वर्चुअल केपिटल नहीं करना है।
  • उससे आपकी साइकोलॉजी खराब होगी। और आप जल्दी ट्रेडर नहीं बन पाओगे उससे सिर्फ समय खराब होगा कुछ भी नहीं सिख पाओगे।
  • पूरे दिन में आपको सिर्फ एक ट्रेड ही करना है। क्योंकि आपका कैपिटल कम है इसलिए एक ट्रेड से ज्यादा करने पर आप धीरे-धीरे ओबेर ट्रेड का सीकर बन सकते हो। 3 से 4 महीने का 1 साल भी लग सकता है।
यह वीडियो जरूर देखिये।

पेपर ट्रेडिंग क्यों करना चाहिए?

दोस्तों आपका कैपिटल कम हो या ज्यादा अगर आपका शुरुआत में प्रॉफिट हो गया तो आपको कॉन्फिडेंस में आ कर। आप बड़े बड़े कैपिटल से ट्रेड करने लगोगे। और रिक्स को मैनेज नहीं करोगे। फिर आपका लॉस होना तय है

अगर आप की किस्मत शुरुआती दिनों में अच्छी नहीं रही और लॉस हो गया जो 95% लोगो के साथ होता है तो फिर क्या होगा।
ऑप्शन ट्रेडिंग में सबसे पहले आपको ट्रेडिंग की साइकोलॉजी को समझना पड़ता है ऑप्शन ट्रेडर का पैसा कहां पर बनता है। और किस दिन बड़ा प्रॉफिट या लोस्स होता है।

क्योंकि ऑप्शन ट्रेडिंग काफी रिस्की है। कोई भी व्यक्ति कितने भी अच्छे ट्रेडर बन जाये उसकी विनिंग रेट 70% से ज्यादा नहीं होने वाला क्योंकि इसमें टाइम डीके भी होता है।

मान के चलते हैं आपने ट्रेड लिया और मार्केट धीरे-धीरे आपके हिसाब से ही चल रहा है आपका फिर भी वहां पर पैसा नहीं बनेगा। और थोड़ा सा भी मार्टेक आपके विप्रीत दिशा में गया। तो आपका प्रॉफिट लॉस में दिखना सुरु हो जायेगा।

आप अगर यह बातों का ध्यान नहीं रखते हो तो शुरुआती दिनों में अपने रियल पैसों से ट्रेड करते हो तो आपको एक सफल ट्रेडर बनने में काफी समय लगने वाला है। क्योंकि आपका कुछ महीनों में सारा पैसा खत्म हो जाएगा। और फिर आप उसको रिकवर करने के लिए इधर -उधर से पैसों का जुगाड़ करोगे।

फिर ट्रेड करोगे आपका फिर सीखने पर फोकस नहीं रहेगा। आपका फोकस अपने पैसे को रिकवर करने में रहेगा। आप का पैसा तो रिकवर नहीं होगा उल्टा लॉस हो जायेगा। फिर आप सिखने पर धियान दोगे तो आप को फिर 4 से 7 साल भी लग सकते हैं। क्योकि आप का जो लॉस हुआ है उससे डिप्रेसन में चले जाओगे। डिप्रेसन से निकलने में 6 से 15 महीनो का समय लग सकता है।

दोस्तों पहले आप सीखें और फिर ऑप्शन ट्रेडिंग करें ऑप्शन बायर का प्रॉफिट तब होता है जब मार्केट में अच्छा मोमेंटम आता है। ऑप्शन ट्रेडिंग मोमेंटम ट्रेडिंग है आपको मोमेंटम पकड़ना आज्ञा तो सक्सेसफुल ट्रेडर बन सकते हो। मार्केट में बने नहीं रहना आपको जहां लगे मोमेंटम आ सकता है सिर्फ वहीं पर ट्रेड करे।

मार्केट में फ़ास्ट मोमेंटम कहां पर आ सकता है कैसे पता करें?

Fast momentum आपको किसी ब्रेकआउट पर या फिर जब मार्केट लोगों के स्टॉप लॉस हिट करने जाती है तब काफी फास्ट मोमेंटम आता है। या फिर कोई ट्रेंड चल रहा हो।

जैसे की अप ट्रेंड या फिर डाउन ट्रेंड आपको हमेशा ट्रेंड के साथ ही ट्रेड करना है। क्योकि कोई भी स्ट्रेटजी उपयोग कर रहे हो उसको आप ट्रेन के अगेंस्ट में उपयोग करोगे तो आपका लॉस ही होगा।

उदाहरण कोई भी तैराक नदी बहाव के साथ तैरेगा तो उसे तकलीफ नहीं होगी और आसानी से तेर पायेगा और भाव के विपरीत तरेगा तो ज्यादा दूर नहीं तेर सकता। और थक जाये गए फिर उसके साथ कोई खतना भी हो सकती है।

अगर किसी भी स्ट्रेटजी को ट्रेंड के साथ उपयोग करोगे। तो आपका विनिंग रेट काफी इनक्रीस हो जाता है और स्टॉप लॉस कम हिट होते हैं। यह बात आप ध्यान रखना।

निम्नलिखित प्रश्न उत्तर ऑप्शन ट्रेडिंग।

  1. ऑप्शन ट्रेडर बनने में कितना समय लगता है?

    ऑप्शन ट्रेडर बन्ने के लिए मिनिम्म 2 साल का समय लग जाता है आप अगर अच्छे से प्रैक्टिस और कोई एक या दो स्ट्रेटजी को फॉलो करोगे। तो आप जल्दी से जल्दी ट्रेडर बन सकते हो। ध्यान रहे की किसी ट्रेडर की गाइडेंस को फॉलो करोगे तो बन सकते हो अन्यथा कितना भी समय लग सकता है।

  2. बेस्ट ट्रेडिंग ऍप कौन सा है?

    आजकल तो सारे आप ही अच्छे हैं लेकिन मेरा फेवरेट Zerodha और Mstock है आप Mstock मैं अकाउंट खुलवा सकते हो बस आपको कुछ शुरुआत में चार्जर देना होगा। उसके बाद आपका ब्रोकरेज हमेशा के लिए फ्री हो जाएगा। अभी के लिए Zerodha मैं ऐसा कोई सिस्टम नहीं है Zerodha ₹20 पर ऑर्डर लेता है और यह बिगनर के लिए काफी ज्यादा है।

  3. ऑप्शन ट्रेडिंग में हम कितना कमा सकते हैं?

    ऑप्शन ट्रेडिंग में आप अभी कुछ भी नहीं कमा सकते आप ट्रेडिंग सीखने के बाद कोई लिमिट नहीं है आप कितना भी कमा सकते हो।

  4. ऑप्शन ट्रेडर किस इंडेक्स में करना अच्छा है?

    ज्यादातर लोग Bank Nifty और Nifty50 मैं करते हैं आप भी इसी में कर सकते हैं क्योंकि यह इंडेक्स में ज्यादा वॉल्यूम और वोलैटिलिटी होता है। इसका फायदा यह है की इसकी वजह से खरीदने और बेचने में कोई परेशानी नहीं होता है। और कोई भी स्ट्राइक प्राइस में सर्किट नहीं लगता और पोजीसन सेफ रहती है।

  5. ऑप्शन ट्रेडिंग में कितना नुकसान संभव है?

    दोस्तों ऑप्शन मैं लगभग आपके कैपिटल का 70% से 90% 1 दिन में लॉस हो सकता है। और एक्सपायरी वाले दिन लॉस 100% पूरा खत्म हो सकता है इसलिए ऑप्शन ट्रेडिंग रिस्की है इसे सीख कर ही करें।

  6. मैं भारत में ऑप्शन ट्रेडिंग कैसे सीख सकता हूं?

    आप किसी अनुभवी ट्रेडर का course ज्वाइन कर सकते हैं जो आपके बजट में हो या फिर यूटुब से और किसी अन्य वेबसाइट से सीख सकते हैं। या फिर आपके जान पहचान में कोई ट्रेडर हो। वैसे बेस्ट यह है कि आप कोई कोर्स परचेज कर ले और उस ट्रेडर की निगरानी में सीखें तो आप ज्यादा जल्दी और अच्छे से सीख सकते हैं। ज्यादा लॉस नहीं करेंगे।

  7. शेयर मार्केट का कोर्स कितने साल का होता है?

    कोर्स बनाने वाले के ऊपर हैं कि वह कितने साल का या दिनों का बनाता है। और आप उस कोर्स को खरीदने के बाद कितना मेहनत करते हो। अगर आप ऑनलाइन यूटुब पर किसी अच्छे ट्रेडर का कोर्स खरी देते हो। तो आपको ज्यादा से ज्यादा 3 महीने में इंट्राडे ट्रेडिंग का बेसिक आ जाएगा। उसके बाद आपको प्रैक्टिस और प्रैक्टिस ही करना है और अपने ट्रेडिंग रूल को फॉलो करना है।

कुछ जरूरी बातें

इस वेबसाइट पर जितने भी आर्टिकल लिखे गए हैं। वह मेरा एक्सपीरियंस बेस पर लिखे गए हैं। यह मेरा खुद का अनुभव है अगर आप इस लेख में जो चीजें बताई गई है। उस तरहे सीखोगे तो आप जल्दी एक सफल ट्रेडर बन सकते हो अन्यथा आप अपना पैसा रिकवर करने में ही समय और मेहनत और अपनी मेंटल हेल्थ खराब कर दोगे।

और फिर डिप्रेशन में आ जाओगे फिर आपको ट्रेडिंग सीखने में काफी समस्या आ सकता है। आपको हमेशा कोई भी एक स्टेटर्जी को फॉलो करना है और जो आप रूल बनाओगे उसको हमेसा फॉलो करना है।

रोज बैक टेस्टिंग करना है स्टेटर्जी की बैक टेस्टिंग ही एक ऐसी चीज है जो एक लॉस ट्रेडर या नए ट्रेडर को स्मार्ट ट्रेडर या फिर प्रोफेशनल ट्रेडर बनाती है। और आपका डिसिप्लिन बैक टेस्टिंग करने में काफी मेहनत करना पड़ेगा दूसरा कोई रहस्य या जुगाड़ नहीं है। ऑप्शन ट्रेडिंग में सफल होने का All The Best Trading Journey के लिए आप का कोई सुझाव या सवाल है तो कमेंट बॉक्स निचे खुला है।

Spread the love

Leave a Comment